200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर के इंडिया बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग देश।


200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर के इंडिया बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग देश।
200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर के इंडिया बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग देश।

200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाकर के इंडिया बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग देश।


2014 में इंडिया के पास सिर्फ दो यूनिट थे मोबाइल बनाने के लिए यानी कि 2014 में सिर्फ दो ही जगह पर सिर्फ मोबाइल बनाया जाता था या फिर मोबाइल मैन्युफैक्चरर किया जा सकता था सीधा जाने।
loading...

मिनिस्ट्री आफ इनफॉरमेशन एंड टेक्नोलॉजी के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इंडिया दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी बन चुका है। क्योंकि 2014 से लेकर अभी तक यानी कि 5 सालों में इंडिया में 200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को या फिर मोबाइल के कंपोनेंट्स बनाने वाले यूनिट्स को लगाया गया है।

यह न्यूज़ हमारे देश के लिए हमारे देश के लोगों के लिए काफी गर्व महसूस करा सकता है क्योंकि आत्मनिर्भर के क्षेत्र में इंडिया काफी आगे बढ़ता चला जा रहा है।

वही इस एरिया में अभी तक 200 से ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में लगभग साढे़ छह लाख लोगों को डायरेक्ट नौकरी मिली है और 3 लाख लोगों को इनडायरेक्ट नौकरी दिया गया है।

आत्मनिर्भर भारत में भारत ने अपना कीर्तिमान स्थापित कर दिया है क्योंकि इसके पहले चाइना के अंदर सबसे ज्यादा मोबाइल मैन्युफैक्चरर कंपनी की यूनिट थी लेकिन अब दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी इंडिया बन चुका है।
loading...
loading...