कंप्यूटर और स्मार्टफोन को रखें वायरस फ्री

 कंप्यूटर और स्मार्टफोन को रखें वायरस फ्री
 कंप्यूटर और स्मार्टफोन को रखें वायरस फ्री

कंप्यूटर के वायरस फ्री रखना बहुत जरूरी होता है अगर आपके पास एक कंप्यूटर है अगर आप उस पर कोई भी ऐसे सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करते हैं या फिर इंटरनेट का उपयोग अपने कंप्यूटर पर काफी ज्यादा करते हैं तो आपके कंप्यूटर के लिए वायरस का खतरा बना रहता है तो आप अपने कंप्यूटर को वायरस फ्री कैसे रख सकते हैं इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि हम अपने कंप्यूटर को कुछ  आसान से टिप्स और ट्रिक्स जानकर अपने कंप्यूटर को वायरस फ्री रख सकते हैं.

आज इस टेक्नोलॉजी भरी दुनिया में समय के साथ-साथ ऑनलाइन की खतरे बढ़ते जा रहे हैं ऑनलाइन से आने वाली वायरस आपकी पर्सनल डाटा को हैक कर सकता है या फिर आपके बैंक अकाउंट से सारे पैसे निकाल सकता है इन सब चीजों से बचने के लिए हमें क्या करना चाहिए आज हम जानेंगे.
Loading...

 सबसे पहले जानेंगे कि क्या है ऑनलाइन वायरस


 वायरस एक ऑनलाइन प्रोग्राम होता है जो कि कंप्यूटर स्मार्टफोन के जरिए आपके सिस्टम के अंदर चला जाता है उसके बाद आपके कंप्यूटर के अंदर जाकर या आपके कंप्यूटर की वर्किंग कैपेसिटी को खत्म करना शुरू कर देता है और आपके कंप्यूटर के द्वारा किए जाने वाले सारे कार्य को आप को बिना बताए हैं चुरा सकता है इतना ही नहीं आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन को या बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकता है हो सकता है कि आपका अपडेट सिस्टम  को बर्बाद कर दें या फिर आपके पूरे सिस्टम को ही इसे हम वायरस कहते हैं.

 वायरस कैसे आता है


 वायरस मुख्यतः इंटरनेट के जरिए आपके सिस्टम या स्मार्ट फोन के अंदर घुसता है अक्सर यह वायरस एक  लिंक के मदद से आपके  स्मार्टफोन या आपके कंप्यूटर में घुसता है उसके बाद या अपना कार्य शुरू कर देता है आपके सिस्टम को बर्बाद करने के लिए.

 वायरस और भी तरीके से आता है जैसे कि अगर किसी दूसरे का पेन ड्राइव आप अपने सिस्टम में लगाते हैं और उसे बिना किसी सिक्योरिटी के यूज़ करते हैं तो उस पेनड्राइव में मौजूद वायरस आपके सिस्टम में आ सकता है.

 कई बार आप एक ऐसे वेबसाइट खोलते होंगे जहां पर अनवांटेड एडवर्टाइजमेंट दिखाई देता है और उस पर हम क्लिक करते हैं क्लिक करते ही आपके सिस्टम के अंदर कुछ अनवांटेड वायरस आ जाता है या फिर ऑटोमेटिक ही कोई सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाता है जो कि आपके सिस्टम के लिए हानिकारक होता है और यह वायरस आपके सिस्टम में अपने तरीके से काम करना शुरू कर देता है जिसे आप काफी परेशान हो जाते हैं.

कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है


 कंप्यूटर के अंदर कभी भी अपने बैंकिंग से जुड़े कोई भी दस्तावेज या फिर कोई भी ऐसे लेटेस्ट जो कि असुरक्षित है उसे ना रखें  टेस्ट मोड में तो बिल्कुल भी ना रखें.

 कहीं से भी कोई हॉट पार्टी वाला एप्लीकेशन इंस्टॉल करें चाहे वह कंप्यूटर हो या फिर एंड्रॉयड स्माटफोन.

 अगर आप अपने कंप्यूटर पर हमेशा अपने बैंक से जुड़े ऑनलाइन काम कार्य करते हैं तो ध्यान रहे कि कोई भी थर्ड पार्टी ऐप यूज करें जो कि आपके बैंक के नाम से मिलता जुलता है हमेशा ऑफिशल वेबसाइट ऑफिशल एप्स के जरिए ही अपने कार्य को करें.

 एंटीवायरस करें अपने स्मार्टफोन में या अपने कंप्यूटर में


 सबसे पहले आप अपने इच्छा अनुसार या सुविधा अनुसार एक एंटीवायरस का चयन करें उसके बाद उसके हुए एंटीवायरस की ऑफिशल वेबसाइट पर  जाएं.


 वहां पर आपको उस एंटीवायरस के बारे में सारी जानकारी दी गई होगी आप अपनी सुविधा के अनुसार उस एंटीवायरस को वहां से ऑनलाइन खरीद सकते हैं अपने एंटीवायरस को 1 साल के लिए भी खरीद सकते हैं उसके साथ आपको एक ऑफिशियल की दिया जाएगा.

 आप अपने एंटीवायरस ऑनलाइन परचेज करने हैं उसके बाद आपके ईमेल आईडी पर एक लिंक भेजी जाएगी और उस लिंक के जरिए आप अपने सिस्टम पर यानी क्या हो अपने कंप्यूटर पर एंटीवायरस को इंस्टॉल कर सकते हैं.

एंटीवायरस को ऑफलाइन भी इंस्टॉल कर सकते हैं


 जी हां आपने सही सुना आप अपने कंप्यूटर के अंदर ऑफलाइन एंटीवायरस भी इंस्टॉल कर सकते हैं इसका मतलब यह है कि जिस कंपनी का आफ एंटीवायरस लेना चाहते हैं उस कंपनी का एंटीवायरस डीवीडी के रूप में किसी भी इलेक्ट्रॉनिक मार्केट में आपको मिल जाएगा.

 वहां से आप उस कंपनी के डीवीडी का एंटीवायरस खरीद कर ला सकते हैं उसके अंदर आपको जीतने समय के लिए वाला एंटीवायरस चाहिए आप उसे खरीद सकते हैं.

 उस डीवीडी के ऊपर आपको उस एंटीवायरस का की दिया होगा इंस्टॉल करने के बाद आपको उस कि को एंटीवायरस में इंटर करना होगा उसके बाद आप का एंटीवायरस एक्टिवेट हो जाएगा.


अपने कंप्यूटर को एंटीवायरस से ऐसे  बचाएं


 हम जानते हैं कि एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को वायरस से होने वाले नुकसान से बचा सकता है इसके लिए आपको कौन सा एंटीवायरस लेना चाहिए यहां पर मैं आपको कुछ एंटीवायरस के नाम बताने जा रहा हूं जो सबसे ज्यादा प्रचलित एंटीवायरस है उसे हम  क्विक हील के रूप में जानते हैं

 दूसरा एंटीवायरस आप Nortan का उपयोग कर सकते हैं McCafe एंटीवायरस भी आप इस्तेमाल में ला सकते हैं.

 अगर आप इंटरनेट अपने कंप्यूटर पर यूज कर रहे हैं और कोई भी पॉपअप एडवर्टाइजमेंट खोलता है तो आप उस पर क्लिक ना करें इससे आपके अंदर आने वाले  वायरस से बचा जा सकता है अगर  आपने उस पॉपअप एडवर्टाइजमेंट के ऊपर क्लिक किया तो आपके सिस्टम के अंदर अनवांटेड सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाएंगे जो कि आपके सिस्टम के अंदर अपने इच्छा अनुसार काम करना शुरू कर देगा.

 ई-मेल के जरिए भी एंटीवायरस आपके सिस्टम में आ सकता है अपनी ईमेल आईडी के अंदर कोई भी ऐसे ई-मेल को खोले जोक आपके इच्छा अनुसार नहीं है उसके अंदर वायरस होता है या कोई लिंक होगा जिस पर आप क्लिक करेंगे और आपके सिस्टम के अंदर वायरस आ जाएगा.

 कंक्लुजन -  आर्टिकल में हमने सीखा कि हम अपने कंप्यूटर या फिर स्मार्टफोन को ऑनलाइन या ऑफलाइन होने वाले वायरस से कैसे बचा सकते हैं इस बात को ध्यान आपको रखना है कि आप अपने सिस्टम या स्मार्टफोन पर क्या करते हैं सावधानी बरतने से आपके सिस्टम में मौजूद पर्सनल डाटा को आप बचा सकते हैं या ऑनलाइन मौजूद आप के डाटा को भी बचा सकते हैं आजकल ऑनलाइन फ्रॉड काफी ज्यादा हो रहा है इन सब से बचने के लिए हमें कुछ सावधानी बरतनी जरूरी है अगर आप कोई आर्टिकल पसंद आया हो तो हमें जरूर बताएं कमेंट करके अगर आपके पास कोई क्वेश्चन हो तो पूछ सकते हैं.

loading...
Loading...