स्मार्टफोन से डीएसएलआर की तरह फोटो कैसे लिया जा सकता है

स्मार्टफोन से डीएसएलआर की तरह फोटो कैसे लिया जा सकता है
स्मार्टफोन से डीएसएलआर की तरह फोटो कैसे लिया जा सकता है

अगर आपका  शॉक फोटोग्राफी का है लेकिन आपके पास एक अच्छा कैमरा नहीं है फोटोग्राफी करने के लिए आपके पास एक बेहतरीन कैमरा होना चाहिए जो कि डीएसएलआर की तरह होता है या फिर डीएसएलआर ही होता है कैमरे के बहुत सारे टाइप्स हैं जैसे कि प्वाइंट एंड शूट कैमरा, मिरर लेंस कैमरा, डीएसएलआर कैमरा  यह सारे कैमरे के प्रकार है  लेकिन मार्केट में इन कैमरों की प्राइस काफी ज्यादा होती है जिसे हम खरीद नहीं पाते हैं पर कोई बात नहीं आज मैं आपको एक ऐसे ट्रिक्स के बारे में बताने जा रहा हूं जो कि आप अपने स्मार्टफोन में उपयोग कर सकते हैं स्मार्टफोन की मदद से आप एक बेहतरीन कैमरा  वाले फोटो भी क्लिक कर सकते हैं लोगों को पता भी नहीं चलेगा कि यह फोटो को एक स्मार्टफोन से लिया गया है
Loading...
स्मार्टफोन की दुनिया में आज होड़ लगी हुई है  आज स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियां बहुत ही कम दामों में आपको बेहतरीन कैमरा के साथ एक स्मार्टफोन देता है आजकल स्मार्टफोन में डुअल कैमरा और ट्रिपल कैमरा के साथ स्मार्टफोन मार्केट में लॉन्च हो रहा है जो कि बहुत ही कम बजट के साथ आपको मिल जाते हैं.

फोटोग्राफी करने के लिए आपको अलग से एक कैमरा खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों ने अपने स्मार्टफोन में बेहतरीन कैमरा लगाकर और उसे बेहतरीन फीचर्स देकर भी उसके कैमरी क्वालिटी को बढ़ा दिया है.

आप अपने स्मार्टफोन की मदद से ही एक प्रोफेशनल टाइप फोटो ले सकते हैं आज मैं आपको कुछ ऐसे सेटिंग्स के बारे में बताने जा रहा हूं जिसकी मदद से आप अपने स्मार्टफोन से ही एक हाई बजट कैमरे की तरह फोटो क्लिक कर सकते हैं तो चलिए जानते हैं कि यह सेटिंग क्या है.

अपर्चर

आखिर अपर्चर होता क्या है  हर किसी को  इसके बारे में पता नहीं होता है  तो मैं आपको इसके बारे में बताता हूं किसी भी कैमरे से ली जाने वाली फोटो यानी कि जिस वक्त आप फोटो ले रहे हैं उस वक्त आपके कैमरे के अंदर एक लाइट  यानी की रोशनी जाती है  जो कि आपके कैमरे के इमेज सेंसर पर पड़ता है इसे हम कैमरा की भाषा में अपर्चर  कहते हैं.

तो आज हम जानेंगे कि किसी भी फोटो को क्लिक करने के लिए या किसी भी कैमरे के अंदर कितना अपर्चर होना जरूरी होता है जिसकी मदद से आप बेहतरीन फोटो क्लिक कर सकते हैं.

हम जो भी है स्मार्टफोन लेते हैं उसे स्मार्ट फोन में डुअल कैमरा होता है उन कमरों का अपर्चर अक्सर f/2  या f/2.2  दिया हुआ होता है.

ऐसा भी होता है कि  स्मार्ट फोन में ट्रिपल कैमरा दिया हुआ है उसमें अपर्चर f/1.8  या f/1.7 होता है इसका मतलब यह होता है कि f/1.8  या f/1.7 यह अपर्चर f/2  या f/2.2 इन अपर्चर की तुलना में काफी अच्छे होते हैं क्योंकि f/1.8  या f/1.7  इनर अपर्चर के अंदर जाने वाली रोशनी f/2  या f/2.2 इन अपर्चर से  ज्यादा होता है.

तो आपको अपर्चर के बारे में पता चल गया होगा नेक्स्ट टाइम अब जब भी कोई स्मार्टफोन खरीदे या उसके कैमरे में दी गई हुई अपर्चर को आप  चेक कर सकते हैं और अपने लिए एक बेहतरीन स्मार्टफोन जो की बेहतरीन फोटोग्राफी के लिए बना सकते हैं.

शटर स्पीड


शटर स्पीड होता क्या है एक निश्चित समय तक जो भी प्रकाश लेंस के जरिए होते हुए जो सेंसर के ऊपर पड़ता है उसे हम सटर कहते हैं जब भी हम फोटो क्लिक करते हैं या लेते हैं तो एक निश्चित स्पीड से शटर खुलता और बंद होता है जिसे आप शटर स्पीड भी कह सकते हैं शटर स्पीड को अक्सर जो भी चीज की फोटो ले रहे हैं वह कितनी तेजी से  हिल कर रहा है  उसे स्थिर रूप में लेने के लिए हम शटर स्पीड का प्रयोग करते हैं.

आपके स्मार्टफोन में शटर स्पीड कितनी होनी चाहिए इसका भी सेटिंग आपको करना चाहिए अगर आपको बहुत ही तेज मूवमेंट वाला ऑब्जेक्ट को क्लिक करना है तो आप की शटर स्पीड बढ़ा देनी पड़ेगी जैसे कि दौड़ता हुआ आदमी, या फिर कोई ऐसी चीज जो कि काफी तेजी से इधर से उधर जा रहे हैं.

अगर कोई ऑब्जेक्ट्स  रुका हुआ है  तो आप का शटर स्पीड 1/125  रख सकते हैं वहीं अगर कोई ऑब्जेक्ट बहुत तेजी से घूम रहा है तो आप का शटर स्पीड होना चाहिए 1/2000 इस सेटिंग से आप अपने ऑब्जेक्ट को फोटो क्लिक करने के बाद स्थिर देख सकते हैं.

हमने यहां पर दो शटर स्पीड के बारे में देखा  आपकी शटर स्पीड जितने कम होगी  उतना ही रोशनी आपके लेख से होते हुए आपके सेंसर पर पड़ेगा.

ISO 


ISO होता क्या है इसका मतलब यह है कि जो भी प्रकाश कैमरे के इमेज  का इमेज सेंसर कितना सेंसेटिव है इसका उपयोग इस तरह से किया जा सकता है.

अगर आप रोशनी में अपने फोटो को ले रहे हैं तो आप का ISO  कम होना चाहिए यानी कि 100 के आस पास रख सकते हैं वहीं अगर आप अपनी फोटो को अंधेरे में ले रहे हैं तो आपकी ISO  बढ़ा दे यानी कि आप इसे 400 से 500 तक रख सकते हैं.

ISO  की मदद से आप अपने फोटो के लाइट को बढ़ा सकते हैं यानी कि अगर जहां भी आप फोटो ले रहे हैं वहां पर आपका प्रकाश कम है तो आईएसओ बढ़ाकर उसके इमेज की लाइट को बढ़ाया जा सकता है.अगर इसको आप  सेटिंग नहीं कर सकते हैं तो  इसे आप ऑटो मोड में भी रख सकते हैं.

आप को इस बारे में पता होना चाहिए कि अगर आपके स्मार्टफोन या अगर स्मार्टफोन से या फिर किसी भी कैमरे से ली गई फोटो जिसकी ISO  ज्यादा बढ़ाई गई है उसके कैमरे से ली गई फोटो की क्वालिटी थोड़ी कम हो जाती है इसलिए अपने कैमरे की इस सेटिंग को ऑटो मोड में रखना ही बेहतर माना जाता है अगर आपका कैमरा स्मार्टफोन की कैमरा काफी बढ़िया ना हो तब तक इसे यूज ना करें.

व्हाइट बैलेंस

व्हाइट बैलेंस क्या होता है फोटो क्लिक करते हैं उस समय अगर हम अपने फोटो को चेंज करना चाहते हैं जैसे कि हम ब्लैक एंड व्हाइट फोटो लेना चाहते हैं या फिर कोई और इसे टालना चाहते हैं अपने फोटो के ऊपर तो हम व्हाइट बैलेंस की सेटिंग की मदद से ऐसा किया जा सकता है.

अगर आप कोई फोटो शाम के वक्त क्लिक कर रहे हैं लेकिन आपके कैमरे से ली गई जाने वाली फोटो बिल्कुल ओरिजिनल नहीं दिख रही है ऐसा नहीं लग रहा है कि आपका फोटो शाम को लिया जा रहा है तो आप व्हाइट बैलेंस की मदद से सेटिंग में उसे सेट कर सकते हैं और अपने फोटो को एक बेहतरीन कलर दे सकते हैं.


आज हमने सीखा कि अपने स्मार्टफोन से डीएसएलआर की तरह फोटो कैसे लिया जा सकता है अगर आप कोई आर्टिकल पसंद आया हो तो जरूर कमेंट करें.


loading...
Loading...