HAPPY DIWALI 2018 - चलिए मनाते है इस साल की दिवाली सब के साथ

HAPPY DIWALI 2018 - चलिए मनाते है इस साल की दिवाली सब के साथ
HAPPY DIWALI 2018 - चलिए मनाते है इस साल की दिवाली सब के साथ 

HAPPY DIWALI 2018

आज दिवाली है आज खुशियों का दिन है। सब कोई सज धज कर तैयार है अपनों के साथ अपने दोस्तों के साथ दिवाली मनाने के लिए।

कोई अपनों से दूर है तो कोई पास। जो अपनों के पास है वो तो बहुत खुस है की आज अपने लोगो के साथ दिवाली मनाने को मिलेगा जो दूर में है वो अपनों को मिस कर रहा है।

जो दूर है वो मैसेज कर रहे है या फिर कॉल पर लम्बी बात किये जा रहे है हा क्यों नहीं अब तो कॉल पर भी कम पैसे लगते है मेरा मतलब है अब तो अनलिमिटेड कॉल का टाइम है और इंटरनेट भी बहुत मिलता है जिससे की आप मैसेज कर सकते है अपनों को और अपने दोस्तों को भी। तो लगे रोहो और लम्बी बाते किये जाओ।

बच्चो तो सुबह से ही खुश है आज तो दिवाली है आज तो बहुत पटाखे जलाएंगे और खूब मिठाई खाएंगे बच्चे तो सुबह से ही पटाखे जलाने में लग गए है। साडी गालिओ में सोरो गुल की आवाज हो रही है।

घर की औरते काफी बिजी मालूम हो रहे है अरे भाई आज लक्ष्मी पूजा भी है उसके लिए लक्ष्मी जी की पूजा भी तो करना है साफ सफाई तो हो गयी बस आखरी बार मंदिरो को साफ किया जा  है। नई नई लक्ष्मी जी की कैलेंडर और मुर्तिया लगाई जा रही है। मंदिर को सजाने के बाद लक्ष्मी जी की पूजा करनी है।

घर के बारे लोगो पर भी तो ध्यान डालते है वो क्या कर रहे है अरे वाह वो तो घरो में लड़िया और लाइट लगा रहे है उनका तो आज एक की मकसद है की पड़ोसियों के घरो से अच्छा अपना घर सजना है तो फिर क्या है लाइट के ऊपर और सजाने वाले समान के ऊपर तो पैसे पानी की तरह बहाये जा रहे है। वैसे भी कहते है की दिवाली दीपो, उजालो का त्यौहार है। आज के दिन बिजली बिल की किसे पड़ी है।

रसोई घर में मिठाइयां बन रही है तरह तरह की मिठाई गुलाब जामुन, रसगुले, बर्फी, और पता चला की घर के दादा जी तो और मिठाई लेन गए है।  देख कर तो मुँह में पानी या जाये पर अभी नहीं खाना है पहले पूजा होगा फिर मिलेगा मिठाई। चलो भाई थोड़ी देर इंतजार कर लो।

चलो टाइम या गया अब पटाखे जलाना है सारे पटाखे निकल लिया गया है अलग अलग तरह के पटाखे कुछ चरखी है तो कुछ फुलझरि कुछ आलू बम है और कुछ राकेट कुछ तो ऐसे पटाखे है जिसे देख कर ही डर जाओ।इस वातावरण का किसे पड़ा है होने दो धुंया मरने दो पसु पंछियो को कोई आवाज से मरेगा तो मरने दो या फिर किसी को हार्ट अटैक ही क्यों न या जाये हम तो आज पटाखे जला कर रहेंगे। ऐसा लग रहा है की युद्ध के लिए जा रहे है आज तो अपने दुश्मनो को नहीं छोड़ना है अरे भाई मजाक कर रहे थे।

पर मम्मी किसी को भी बाहर नहीं जाने दे रही है बोल रही है की पहले पूजा होगा फिर मिठाई खाएंगे उसके बाद पटाखे जलाना है। बात तो सही है मिठाई का नाम सुनते ही मुँह में पानी या गया है मिठाई भी खाने का मन हो रहा है और पटाखे जलाने का भी मन हो रहा है चलो पेट पूजा कर लेते है।

हा अब हो गया खाना पीना अब पटाखे जलाये औरते और बड़े लोग पड़ोसियों में मिठाईया बाटने चले गए और कुछ लोग पटाखे जलाने के लिए।

अरे है सबसे इम्पोर्टेन बात भूल गए आज तो पत्ते खेलने का भी दिन है इसे कैसे भूल सकते है लक्ष्मी जी का त्यौहार है उन्हें नाखुश नहीं कर सकते है बात तो समझ ही गए होंगे।

चलिए ये तो थी मेरे मन की बात - 

आखरी बात आज खुसियो का दिन है तो दुसरो को भी खुश करना है अपने अगल बगल के लोगो को दखिये जरुरत मंद लोगो की मदद कीजिये सायद आपके एक मदद से उनके चेहरे पे मुस्कान या जाये।

पटाखें न जलाये इससे वातावरण को काफी नुकसान पहुँचता है ऐसा होने से हमारे शरीर को ही नुकसान है सिर्फ हमे नहीं इस धरती पर और भी जिव है पंछी को आपके अगल बगल के जानवरो को भी बहुत नुकसान पहुँचता है।

मेरा मानना है खुश रहे है और दुसरो को भी खुश करे। इसी बात पर HAPPY DIWALI 2018 आपको और आपके पुरे परिवार को। .....जय हिन्द

ARVIND KUMAR ....

HAPPY DIWALI 2018 - चलिए मनाते है इस साल की दिवाली सब के साथ




loading...
Loading...