[Ajab Gajab, Facts] ~ WWE ke बारे me अमेजिंग फैक्ट्स

[Ajab Gajab, Facts] ~ WWE ke बारे me अमेजिंग फैक्ट्स
[Ajab Gajab, Facts] ~ WWE ke बारे me अमेजिंग फैक्ट्स

========================================================================

[Ajab Gajab, Facts] ~ WWE ke बारे me अमेजिंग फैक्ट्स

========================================================================

रेसलिंग का महाकुंभ माने जाने वाले WWE में वह सबकुछ है, जो उनके फैन्स को चाहिए। इस शो में रोमांस, फाइट और एंटरटेनमेंट का जबरदस्त Combination है।

WWE की Full Form है “World Wrestling Entertainment”.

रेसलिंग बच्चों को काफी पसंद आती है, और WWE इसका पूरा ध्यान रखती है.

लोगों का मानना ये है, की यहाँ सिर्फ अच्छी बाॅडी वाले ही होते है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है बल्की यहाँ दर्शक
जिसे पसंद करते है वो होते है.
*********************************************************************************

*********************************************************************************
मैच कौन जीतेगा ये यहाँ पहले से ही तय होता है, लेकिन फाईट असली होती है और जो खिलाडियों को चोटें लगती है वो भी असली होती है.

WWE में कई बार हारने वाले को ज्यादा पैसा मिलता है.

ऐसे आरोप लगते रहते है कि अच्छी बाॅडी और स्टेमिना के लिए कुछ रेसलर ड्रग्स लेते है। हालांकि, इसे रोकने के लिए WWE वेलनेस पाॅलिसी है, लेकिन फिर भी ऐसे मामले सामने आते रहते है.

WWE की फाइट भले ही पहले लिखी गई हो, लेकिन ऐसे कई वाकये हुए है, जब रेसलर्स को चोट लगी है और वे विकलांग तक हो गए है। इसके अलावा ज्यादातर मामलो में खून असली ही होता है.

रिंग के नीचे कई प्रकार के हथियार रखे जाते हैं, ताकि रेसलर उन्हे इस्तेमाल कर सकें। 75% हथियार एक दम असली होते हैं। स्टील चेयर, हथौड़ा, सीढ़ी और बाकी हथियार असली होते हैं। अब सिर में चेयर मारना और कुछ ऐसे ही मुव्स WWE में बैन हो गए हैं.

रिंग के नीचे माइक लगाया जाता है ताकि रेसलर्स की आवाज़ आसानी से आए.


रेसलर्स कई बार एक-दूसरे से बात करते हैं, और इसे ‘स्पॉट कॉलिंग’ भी कहा जाता है। इसमें रेसलर्स आपस में ये बात करते हैं की अगला मूव कौन और क्या मारेगा। अगर आप कभी-कभी ध्यान से सुनें तो आपको पता चलेगा की रेसलर्स लड़ते हुए आपस में बात करते हैं.

WWE में ऐसा आपने कई बार देखा होगा की एक पटकी के बाद रेसलर्स घूम घूम के गिरते हैं। यह सही में एक बड़ा शो है। इसको वर्ल्ड रेस्लिंग एंटरटेनमेंट वैसे ही नहीं बोलते है। मैच को ज़्यादा गंभीर दिखाने के लिए कभी-कभी स्ट्रेचर भी बुलाई जाती है.

ये पता लगाने के लिए कि रेसलर सही में चोटिल है या नहीं, आप रेफ्री की शक्ल देखकर इसका पता लगा सकते हैं। अगर चोट असली है तो रेफ्री बैकस्टेज देखेगा और X का निशान अपने हाथों से बनाएगा। इसका मतलब है रेसलर सही में चोटिल है.

WWE के इवेंटस में अक्सर विंस मैकमहोन को मालिक के रूप में पेश किया जाता है। हालांकि, सच्चाई यह है कि WWE एक पब्लिकली ट्रेडेड कंपनी है। मैकमहोन CEO है और उनकी कंपनी में करीब 52 फीसदी हिस्सेदारी है.

loading...
Loading...