[Ajab Gajab, Facts] - क्यों मनाया जाता है फादर्स डे – फादर डे की शुरुआत कैसे हुयी पूरी जानकारी

______________________________________________________
Why is celebrated Father's Day - how received complete information early Father's Day

______________________________________________________

Why is celebrated Father's Day - how received complete information early Father's Day
क्यों मनाया जाता है फादर्स डे

 पिता दिवस पिता के द्वारा उनके बच्चों के जीवन में किए गए योगदान को पहचानने के लिए दुनिया भर में मनाया जाता है यधपि यह दुनिया भर में विभिन्न तिथियों पर मनाया जाता है, लेकिन कई देश जून में तीसरे रविवार को इस दिन मनाते हैं इस वर्ष ये 17 जून में मनाया जायेगा.
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Read Also - [Ajab Gajab, Facts] - Google के बारे में रोचक तथ्य | क्या आप जानते है?
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

   father day history


इस बात का कोई प्रमाणिकता स्पष्ट नहीं है कब फादर डे की शुरआत हुयी .सुनने में आया है फादर डे को पहली बार 5 जुलाई, 1908 को वेस्ट वर्जीनिया के फेयरमोंट में स्थित एक चर्च में फेयरमोंट के सेंट्रल यूनाइटेड मेथोडिस्ट church में वेस्ट वर्जीनिया के डॉ रॉबर्ट वेबब द्वारा सेलेब्रेट किया गया था .लेकिन अभी इसको सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं थी .

father day kyu mnaya jata hai :-

फाथरे डे कब शुरू हुआ इसके पीछे एक बहुत पुराणी कहानी है बाकी के डे की तरह इसकी पृष्टभूमि भी विदेश से जुडी है ,यूनाइटेड स्टेट के एक छोटे से देश सेबेस्टियन काउंटी में 18 February 1882, ko  किसान विलियम जैक्सन स्मार्ट के घर एक बेटी ने जनम लिया जिसका नाम सोनोरा रखा गया ,
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Read Also - [Ajab Gajab, Facts] - अचंभित करने वाले शरीर से जुड़े Interesting facts
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
विलियम जैक्सन स्मार्ट सिविल वार के दौरान एक उच्च श्रेणी के बकील थे ,जब सोनोरा  16 वर्ष की हुयी तो उसकी माता जी का देहांत हो गया .उस समय सोनोरा के 5 छोटे भाई थे जिनमे se सबसे छोटा भाई की उम्र एक महीने से भी कम थी ,sonora  के पिता ने अपने बच्चों को माँ की कमी महसूस नहीं होने दी ,और पिता ने बच्चों को माँ का प्यारा भी दिया .

एक बार सोनोरा अपने पिता के साथ सेंट्रल मेथोडिस्ट चर्च में mother day उपदेश सुनने गयी तब उनके मन में ख्याल आया की ,उनके पिता की गृह युद्ध के दौरान की गयी क़ुर्बानिओं को याद करने के लिए भी एक दिन मनाया जाना चाहिए.सोनोरा चाहती थी की पिता के जनम दिन 5 जून को पिता दिवस के रूप में मनाया जाये .


उन्होंने स्पोकाने मंत्रिस्तरीय गठबंधन से संपर्क किया और 5 जून को पिता के सम्मान के दिन के रूप में मनाये जाने का सुझाव दिया। गठबंधन ने जून में तीसरे रविवार को फादर डे मनाये जाने का दिन घोषित कर दिया .उसके बाद  पहली बार  पिता दिवस 19 जून, 1910 को वाशिंगटन के स्पोकाने में मनाया गया था.
समय के साथ साथ पिता दिवस का प्रचार होने लगा लोग इसको पसंद करने लगे और सभी नौजवान अपने पिता को सम्मान देने के लिए इस दिन के इंतज़ार में रहते ,1916 में, राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने पिता दिवस की प्रशंसा की इस दिवस को मनाये जाने पर लोगो की सराहना की.
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Read Also - [Ajab Gajab Facts] - एयर कंडीशनर के बारे में रोचक तथ्य
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
1966 में, राष्ट्रपति लिंडन बी जॉनसन ने जून के तीसरे रविवार को पिता दिवस के रूप में सेलेब्रेट किये जाने के लिए घोषणा पात्र पर हस्ताक्षर किए .1972 में, राष्ट्रपति निक्सन ने प्रत्येक वर्ष जून के तीसरे रविवार को होने वाले पिता दिवस का स्थायी राष्ट्रीय अनुष्ठान स्थापित किया.

तब से प्रत्येक वर्ष जून महीने के तीसरे रविवार को फादर डे मनाये जाने की परम्परा शुरू हो गयी ,जो अब भारत समेत पुरे विश्व में फ़ैल चुकी है एक अच्छी शुरुआत की थो सोनोरा ने ताकि लोग अपने पिता की उन क़ुर्बानिओ को याद कर सके  , एक पिता अपने बच्चों के पालन पोषण के लिए घर से दूर रह कर नौकरी करता है , दिन रात मेहनत करता है over time  नाईट शिफ्ट लगता है ,ताकि उसका परिवार और बच्चे घर में आराम से रह सकें ,उनको कोई कमी महसूस न हो ,

loading...
Loading...